Jivan Indian Blogs: जीवन में सफल बनने के लिए

Jivan Indian Blogs: Jivan Me Safal Banane Ke Liye | ब्लॉग: जीवन में सफल बनने के लिए

Jivan Indian Blogs, दुनिया के सबसे अमीर आदमी बिल गेट्स ने कहा था| मै अपनी कंपनी का सबसे मुश्किल काम आलसी इंसान को देता हु, क्युकी वह फिर आसान और Shortcut तरीके से काम करने की कोशिश करेगा| बचपनसेही हमें सिखाया गया है की बहोत ज्यादा मेहनत करो जीतनी मेहनत करोगे उतनी आपको Success मिलेगी| केवल मेहनत करने से कोई आदमी Successful हुआ है क्या? लोग एकदम सीधे चलते है जिंदगी भर बस वही काम करेंगे जो उनको दिया है| दुसरो को कमा कमा कर देंगे| मुझे ऐसा एक भी इंसान नहीं मिला जो केवल मेहनत के दम पर Successful हुआ|

मेहनत जब सही जगह पर लगती है, तब नतीजा मिलता है| तो अब सवाल यह है की सही जगह कैसे ढूंढे? Problem यह है की हम बैठ कर Analyse नहीं करते की मेहनत कहा करनी है| बस काम नजर आ गया और भागो जैसे कोई Race चल रही हो आपने 80 20 Rule के बारे में सुना होगा| हमारे जीवन में, बिज़नेस में, कोई भी काम हो उसमे 80% वह काम करते है जिसका Result केवल 20% ही मिलता है| बल्कि 20% वो काम करते है जिससे 80% रिजल्ट मिलते है| ये एक साइंटिफिक तरीका है, अपने Productivity को बढ़ाने का ऐसे Analyse करके चलते है तब कम काम करके ज्यादा Achieve करने लगते है| “Jivan Indian Blogs”.

Success

अपने आस पास देखो कितने ऐसे लोग है| जो ज्यादा मेहनत करते है वो कहा है| Success जब हम किसी भी चीज को Science की नजर से देखते है तो Result मिलने के ज्यादा Chances होते है| अब मिलाना या न मिलाना हजारो Factor पर Depend करता है| हम बस Success को Achieve करने के Chances बढ़ा सकते है|

दो तरह के लोग होते है| एक होते है, मेहनती उनको कोई भी काम दे दो कर लेंगे और उसी तरह से करेंगे जैसे बताया है| सालो तक करेंगे तब भी अपना तरीका नहीं बदलेंगे| दूसरे होते है जीने हम आलसी बोलते है| बल्कि Actual में वो किसी काम को करना नहीं चाहते ऐसा नहीं है| ये  वो होते है, जो चीजों को आसान तरीकेसे और Shortcut तरीकेसे करने की कोशिश करते है| और समय के साथ में अपने आप को Update भी करते रहते है| उनको पता है की अपडेट करेंगे तो काम Shortcut से होगा काम कम करना पड़ेगा| अपना काम करने का तरीका भी Change करते रहते है| वो एक रोबोट की तरह नहीं चलते|

इस दुनिया में जो भी Invention हुए है वो काम को जल्दी से जल्दी करने के लिए ही हुए है और मेहनत कम करने के लिए हुए है | पहले के गूगल में और आज के गूगल में क्या फर्क है? पहले सिर्फ Text डालकर Search करना पड़ता था| अब बोलकर भी Search कर सकते है| अगर गूगल में सब रोबॉट की तरह चलते तो आज भी गूगल पहले के जैसा ही होता| Read more: Entrepreneurship is a way of life

तात्पर्य यही है की कोई भी चीज करने से पहले उसे सभी तरह से Analyse कर के ही करे और आसान तरीका ढूंढे ताकि मेहनत कम और सफलता ज्यादा मिले|

Read more: Motivational Story in hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Facebook
Facebook
Google+
https://jivanindian.com/jivan-indian-blogs-jivan-me-safal-banane">
Instagram
LinkedIn
Twitter
Follow by Email